• भारत

कोलकाता में शुक्रवार को पुलिस द्वारा एक मुस्लिम युवक को बुरी तरह पीटने से उसकी मौत हो गई।

खबरों के अनुसार दस दिन पहले चोरी के आरोप में एक मुस्लिम युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। यह गिरफ्तारी इकबालपुर स्थित पीड़ित फरदीन खान के घर से कथित तौर पर मोबाइल चोरी के आरोप में की गई थी। 

गिरफ्तार फरदीन को पुलिस ने दस दिनों तक हिरासत में रखने के बाद उसे कोलकाता के लाला बाज़ार स्थित पुलिस मुख्यालय में भेज दिया था। लाल बाज़ार पुलिस मुख्यालय में इकबाल की बुरी तरह पिटाई किए जाने की आशंका भी जताई जा रही है। पीड़ित फरदीन की माँ का कहना है कि चार दिन पहले ही उनकी इकबाल से मुलाकात हुई थी और तब इकबाल की सेहत बिलकुल ठीक थी। केवल चार दिनों में ऐसा क्या हो गया की इकबाल की मौत हो गई। इकबाल की माँ का कहना है की लाल बाज़ार पुलिस मुख्यालय में इकबाल को बुरी तरह पीटा गया है। फरदीन के परिवार का आरोप है की पुलिस ने इकबाल को इतना पीटा की इकबाल के शारीर पर पिटाई के गहरे निशान पड़ गए थे जिसके कारण उसकी मौत हो गई है।

आपको बता दे की 17 नवंबर को इकबाल की अचानक से तबियत ख़राब होने से उसे एसएसकेएम अस्पताल में भारती कराया गया था। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को इकबाल के सभी अंगो ने काम करना बंद कर दिया था।

हालांकि पुलिस ने फरदीन के परिजनों के आरोप से इनकार करते हुए कहा है की फरदीन नशे का आदि था जिसके कारण उसकी मौत हुई है। पुलिस ने कहा की इकबाल को पुलिस हिरासात में नशा नहीं मिलने के कारण काफी परेशानी हो रही थी। पुलिस आयुक्त विशाल गर्ग ने मामले की जांच का भरोसा दिया है।