• भारत
drive-licence

केंद्र सरकार की ओर से जनता को जो नोटबंदी का झटका दिया गया था अभी जनता उससे उभर नही पाई थी कि केंद्र ने एक और झटका लगा दिया। यह झटका ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन रजिस्ट्रेशन की फीस मे कई गुना वृद्धि करते हुए दिया गया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार ड्राइविंग लाइसेंस, वाहन रजिस्ट्रेशन आदि की फीस कई गुना बढ़ा दी है। इसके लिए 29 दिसंबर, 2016 को अधिसूचना भी जारी की गई है। बताया जा रहा है कि बढ़ी हुई फीस शनिवार से वसूली जाएगी। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 29 दिसंबर को जारी अधिसूचना में लाइसेंस व रजिस्ट्रेशन सहित कई तरह की फीस बढ़ाने की घोषणा की है।

वृद्धि के पश्चात यह होगी ड्राइविंग लाइसेंस पीस

लर्निंग लाइसेंस 30 रुपए के स्थान पर 200 रूपए।

फीस का विस्तारः इसमें 150 रुपए लर्निंग लाइसेंस फीस और 50 रुपये टेस्ट फीस होगी। टेस्ट में फेल होने पर अगली बार फिर 50 रुपए रुपए फीस देनी पड़ेगी।

स्थायी लाइसेंस  250 रुपए के स्थान पर 700 रुपए देने होंगे।

वाहन रजिस्ट्रेशन फीस

मोटर साइकल  60 के स्थान पर 300 रुपए।

कार का रजिस्ट्रेशन 300 की जगह अब 1500 रुपए में होगा।

वाहन पर फाइनेंस दर्ज करने की फीस भी अब व्यक्ति को पांच गुना चुकाना होगी। लाइसेंस नवीनीकरण के लिए भी 50 की जगह 250 रुपए देने होंगे। यदि नवीनीकरण में समय की चूक होने पर पहले एक साल के 100 रुपए लगते थे, लेकिन अब इसके लिए 1000 रुपए चुकाने होंगे। हालांकि इंदौर में तो नए शुल्क की वसूली की तारीख को लेकर भी असमंजस बना हुआ है।

इंदौर के एक आरटीओ एजेंट के मुताबिक नई फीस की 30 तारीख से ही मांग की जा रही है, जबकि यह आदेश लोगों को अभी बताया गया है। ऐसे में जिन लोगों ने 30 या उसके बाद फीस जमा की है, उनसे अतिरिक्त फीस की मांग की जा रही है।