• भारत
Rahul Gandhi

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी आज राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में जन वेदना सम्मेलन करने जा रहे है। नोटबंदी से देश की जनता को हुई परेशानी को इस वेदना को आवाज देने के लिए कांग्रेस ने इस सम्मेलन का आयोजन करने की योजना बनाई है।

इस सम्मेलन में नोटबंदी को लेकर सरकार को घेरने की तैयारियों पर चर्चा होगी। इस सम्मेलन को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस के दूसरे वरिष्ठ नेता भी संबोधित करेंगे। साथ ही पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनावों की रणनीति पर भी चर्चा होगी। सम्मेलन की अध्यक्षता राहुल को दिए जाने को उनको जल्द ही पार्टी अध्यक्ष बनाए जाने के संकेत के तौर पर भी देखा जा रहा है।

माना जा रहा है कि जन वेदना सम्मेलन में पांच हजार से अधिक प्रतिनिधियों के शामिल होने की उम्मीद है। सूत्रों की मानें तो इस दौरान देश भर से आए कांग्रेस के 5000 डेलीगेट्स को बुकलेट बांटी जाएगी। जिसमें मोदी सरकार के 2।5 साल के कार्यकाल की विफलताएं भी होंगी और केंद्र में नोटबंदी को रखा जाएगा। इस जन वेदना सम्मेलन में राहुल गांधी आरंभिक भाषण देंगे और तमाम वरिष्ठ नेताओं के भाषणों के बाद आखिर में तकरीबन 4:00 बजे समापन भाषण भी देंगे।

आख़िर दस दिनों की छुट्टी के बाद राहुल गांधी देश लौट आए हैं। आते ही उनके घर पर बैठकों का सिलसिला शुरु हो गया। फिर कांग्रेस का फैसला सामने आया कि बुधवार को होने वाले जन वेदना सम्मेलन की अध्यक्षता राहुल ही करेंगे। संकेत दिए जा रहे हैं कि अध्यक्ष बेशक सोनिया हों लेकिन सारी अहम भूमिका राहुल ही निभा रहे हैं।