• एशिया
Benjamin-Netanyahu

विदेशी समाचार एंजेसी के अनुसार अमेरिका की डेमोक्रेट पार्टी से संबंध रखने वाले एक समाचार पत्र ने लिखा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् मे इजरायल के खिलाफ बस्तीयो के निर्माण पर प्रतिबंध की मंजूरी से क्षेत्र मे कोई व्यवहारिक प्रभाव नही होगा।  

सुरक्षा परिषद् ने जेरूसलम सहित फिलिस्तीन के कब्जे वाले क्षेत्रों में इस्राईली बस्तियों के निर्माण कार्य को तुरंत रोकने वाले संकल्प को स्वीकार कर लिया।  

संकल्प के पक्ष में 14 वोट किया। सुरक्षा परिषद् के सदस्यो मे अमेरिका ने भाग नही लिया। अमेरिकी कांग्रेस के डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी के वरिष्ठ नेताओ को डोनाल्ड ट्रंप के विरोध का सामना करना पड़ा।   

अमेरिका की डेमेक्रेटिक पार्टी से संबंध रखने वाले समाचार पत्र ने बताया कि ओबामा शासन की ओर से की गई कार्रवाई को इस्राईल ने खारिज कर दिया है।

न्यूयार्क टाइम्स के अनुसार इस्राईल द्वारा बस्तीयो के निर्माण कार्य को रोकने के संकल्प को खारिज करने पर अमेरिका ने इस्राईल की निंदा करने की अनुमति दी है।   

समाचार पत्र ने आगे लिखा कि क्षेत्र मे परिवर्तन से किसी प्रकार के व्यवहारिक प्रभाव की आशा नही है लेकिन यह संकल्प इस्राईल के लिए एक बड़ा झटका साबित हो सकता है, इस्राईल फिलिस्तीन के पड़ोसी देशो की शांति प्रक्रिया मे वृद्धि के कारण अलग थलग पड़ सकता है।

अमेरिकी कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ कानून निर्माताओ ने वाशिंग्टन का विरोध करते हुए कांग्रेस मे हिस्सा नही लिया।  

न्यूयार्क टाइम्स ने लिखा  दोनो पार्टीयो के सांसदो और सेनटरो ने संकल्प की निंदा की जोकि अमेरिका की डेमेक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी का इस्राईल के प्रति गहरी वफादारी का सबूत है।

अमेरिका की डेमोक्रेट पार्टी के वरिष्ठ नेता चक शूमर ने अपनी ही पार्टी के राष्ट्रपति की आलोचना करते हुए संकल्प को निराशाजनक बताया और कहा कि सरकार इसे वीटो करने मे नाकाम रही है।